धोनी के फ्यूचर पर सस्पेंस! क्यों है BCCI के चयनकर्ताओं की राय अलग-अलग?

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के नए अध्यक्ष सौरव गांगुली ने बेशक कहा है कि वह महेंद्र सिंह धोनी से उनके भविष्य को लेकर बात करेंगे, लेकिन चयन समिति के अध्यक्ष एमएसके प्रसाद ने गुरुवार को अपनी प्राथमिकताएं साफ कर दी हैं और कहा है कि धोनी को लेकर चयन समिति की राय साफ है, वह आगे से बढ़ चुकी है. गुरुवार को प्रसाद की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने  बांग्लादेश के खिलाफ होने वाली टी-20 सीरीज और टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम का चयन किया.

टीम चयन के बाद प्रसाद ने कहा, ‘हम आगे बढ़ चुके हैं, हम अपने विचारों में साफ हैं. विश्व कप के बाद से हम साफ हैं. हमने ऋषभ पंत का समर्थन करना शुरू किया और उन्हें अच्छा करते हुए देखा. उन्होंने अच्छा नहीं किया हो, लेकिन हम साफ कर चुके हैं कि हम सिर्फ उन पर ध्यान देंगे.’

उन्होंने कहा, ‘विश्व कप के बाद हम युवाओं के विकल्प देख रहे हैं. इसलिए आप हमारी सोच को समझ सकते हैं. हमने निश्चित ही धोनी से बात की है और उन्होंने ने भी युवाओं का समर्थन करने की हमारी बात को समर्थन किया है.’

गांगुली ने हालांकि बुधवार को अध्यक्ष पद का कार्यभार लेते हुए यह साफ कर दिया था कि वह धोनी के साथ हैं. गांगुली ने कहा था, ‘मुझे नहीं पता कि उनके दिमाग में क्या चल रहा है. भारत को धोनी पर गर्व है. जब तक मैं हूं तब तक हर किसी का सम्मान किया जाएगा. धोनी की उपलब्धियों ने भारत को गर्व करने का मौका दिया है.’

बांग्लादेश के लिए टी-20 टीम में संजू सैमसन का भी चुना गया है. सैमसन के चयन पर प्रसाद ने कहा, ‘संजू सैमसन को एक बल्लेबाज के तौर पर टीम में जगह मिली है. पंत विकेटकीपर के तौर पर खेलेंगे. संजू की तीन-चार पहले कमी निरंतरता थी, अब वह सुधार कर चुके हैं. उनकी इंडिया-ए की सीरीज शानदार रही थी और विजय हजारे ट्रॉफी में भी उन्होंने अच्छा किया था. हम उन्हें शुद्ध शीर्ष क्रम के बल्लेबाज के तौर पर देखते हैं.’

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *