पीएम मोदी पर आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री का वार

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर एक बार फिर निशाना साधा है. उन्होंने बुधवार को कहा कि वो प्रधानमंत्री को ‘सर’ केवल इसलिए कहते हैं ताकि उनका ईगो सैटिस्फाई हो सके.

उन्होंने कहा, “जब मैं यूएस के पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन से मिला था तो मैंने उन्हें मिस्टर क्लिंटन कहकर पुकारा था। राजनीति की दुनिया में पीएम मोदी मुझसे जूनियर हैं, लेकिन जब वो सत्ता में आए तो मैंने उन्हें ‘सर’ कहकर पुकारा। मैंने इसलिए प्रदेश के भविष्य और उनके अहंकार को संतुष्ट करने के लिए किया और इस उम्मीद से किया कि वो उनके राज्य के साथ न्याय करेंगे। आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दें।”

उन्होंने आगे कहा, “वह गुजरात में दंगों के बाद मुख्यमंत्री के तौर पर नरेंद्र मोदी से इस्तीफा मांगने वाले पहले व्यक्ति थे। शायद इसी वजह से वो आंध्र प्रदेश के साथ भेदभाव कर रहे हैं।”बता दें कि चंद्रबाबू नायडू की पार्टी पिछले साल बीजेपी के नेतृत्व वाली एनडीए से अलग हो गई थी। चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि जब उन्हें विश्वास हो गया कि मोदी आंध्र प्रदेश के साथ न्याय नहीं करेंगे तब उन्होंने गठबंधन से अलग होने का फैसला किया।

उन्होंने कहा, 2014 में बीजेपी के साथ गठबंधन भी उन्होंने अपने राज्य के लिए किया था. उन्होंने कहा, तब अगर वो हम गठबंधन के बगैर चुनाव लड़ते तो शायद 10 सीटें ज्यादा जीतते. एनडीए से अलग होने के बारे में बात करते हुए नायडू ने कहा कि मुझे अहसास हो गया था कि मोदी मेरे राज्य के साथ न्याय नहीं करेंगे इसलिए मैंने गठबंधन से हाथ खींच लिए.

उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी सरकार सीबीआई, ईडी और अन्य एजेंसियों द्वारा मामलों के साथ सभी राजनीतिक विरोधियों को निशाना बना रही है. उन्होंने दावा किया कि उनके मोदी के साथ ‘समझौता’ करने के बाद तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के खिलाफ मामला वापस ले लिया गया था.

चंद्रबाबू नायडू ने ये सभी बातें ऑल पार्टी मीट में कही. ये मीटिंग आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने के लिए बुलाई गई थी. हालांकि इस मीटिंग में YSR कांग्रेस, कांग्रेस, बीजेपी, जन सेना और लेफ्ट पार्टी शामिल नहीं हुई थीं.

2 thoughts on “पीएम मोदी पर आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री का वार

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *